खोज

Five Secrets How To Get Quick Success?

 



आज हम यहां दो बातों पर discuss करेंगे उनमें से एक "नही हो पायेगा" वाली situation पर बात करेंगे।  और दूसरा है कि कैसे आप win-win situation create करके किसी का भी दिल जीत सकते हैं और अपनी दोस्ती को maintain रख सकते हैं। तो चलिए आगे बढ़ते हैं
 

अपने आप को कमतर आंकना?

खुद को किसी से कम मत समझिये! खुद को किसी से कम समझना इसका क्या मतलब है? इसका मतलब यह हरगिज़ नही की आप खुदको बड़ा मानने लगे या तकुब्बुर करने लगें, और बड़ों-छोटों की इज़्ज़त करना भूल जाएं। plz मेरी आपसे request है कि किसी भी बात का angle खुद से मत deside कर लिया करो।

मुझसे न हो पायेगा?

खुदको किसी से कम मत समझना इस बात से यह याद दिलाना मक़सद है कि कोई इंसान जब शुहरत की बुलन्दी पर पहुंच जाता है तो एक आम इंसान के ज़हन में एक ख्याल खुद-बखुद उमड़ आता है कि हम कभी उस मक़ाम तक नही पहुँच पाएंगे। आप सोचने लगते हैं कि हमारी औक़ात कहाँ की हम इतनी बड़ी कामयाबी हासिल कर पाएं? यही तो? बस यही वो बात है जो आपको आगे बढ़ने से रोकती है। महनत करने से रोकती है। क्योंकि आपको तो यही लगता है कि यह मुझसे न हो पायेगा। 

100% में से 99% लोगों की सोच?


मेरा आपसे एक सवाल है कि कोई भी दुनियां में कितना भी अमीर कितना भी मशहूर हो जाये! सोचिये क्या वो एक इंसान नही है। अब यहां पर आपको एक बात की समानता ज़रूर मिलेगी एक मशहूर हस्ती में वो यह कि आप भी इंसान और वो भी इंसान! फिर किया चीज़ है जो आपको यह लगता है कि वो कर सकता है मैं नही कर सकता🤔 बस यही 100% में 99% लोगों की सोच ऐसी होती है। 

आपको फैसला करना है कि आप उन एक 1% लोगों में आना चाहते हैं जिन्होंने ने कहा कि वो कर सकता है तो मैं क्यों नही। वो बड़ा बन सकता है तो मैं क्यों नही। या फिर उन 99% लोगों में जो बस यही कहते हुए चले जाते हैं कि मुझसे न हो पायेगा! और उनसे हो ही नही पाता क्योंकि वो 1% लोगों में शामिल थे ही नही।

आप खुद में एक brand कैसे बन सकते हैं?


खुदकी पर्सनालिटी सुधारिये? इसमें आपकी life भी आती है आपके दोस्त आपका परिवार भी आता है। सबसे पहले जान लेते हैं एक ब्रांड और आपकी personality devolop करने के क्या फायदे हैं। ब्रांड का मतलब यही है कि आप किस बात से लोगों जानें जाना चाहते हो। इस बात से की लोग आपके पीछे आपकी बराई करें! या इस बात से की आपके आगे आपकी तारीफ करें और आपकी पीछे आपकी बुराई? इसे ब्रांड तो नही बोलते पर इसे image खराब ज़रूर बोलते हैं।


जैसा कि मैंने ऊपर बताया कि ब्रांड एक पहचान को कहा जाता है कैसे आप खुद में एक ब्रांड बन सकते हैं। और कैसे लोगों को आपकी तरफ आकर्षित कर सकते हैं! और यह होगा कैसे? इसका एक simple जवाब है वो यह कि आपके अंदर जो हुनर है वो लोगों को दिखाईये! आप किसी को यह तो नही कह सकते कि देखो मेरे अंदर यह हुनर है पर ज़रूरत पडने पर ही। हाँ आप अपने हुनर से लोगों को फायदा पहुंचाकर एक ब्रांड develop कर सकते हैं। लोग आपको जानने लग जाएंगे आपको पहचानने लग जाएंगे। जब लोगों को आपसे फायदा होगा तो जाहिर बात है आपको उसने फायदा होगा। इसे बोलते हैं win-win situation! एक win-win situation create करिये। 

Win-win Situation क्या है ?


win-win situation में कौन लोग कामयाब हो सकते हैं। इसका जवाब बहुत आसान है! जिसकी नियत साफ हो। win-win situation सिर्फ buisness जुड़ा हुआ मामला नही होता बल्कि यह हमारी ज़िंदगी के हर पहलू में शामिल है। यह तब भी शामिल होता है जब आप किसी के सामने अपना पक्ष रख रहे होते हैं और सामने वाला आपकी बात ध्यान से सुनता है, पर जब वो आपको कुछ बताना चाहता है और आप सुनना नही चाहते या कान नही धरना चाहते तो यहां पर आप सिर्फ खुद को बेहतर साबित करने में लगे हैं । क्योंकि आप अपनी बात को रखने में तो उम्मीद करते हैं कि सामने वाला ज़रूर सुनेगा पर जब उस सामने वाले कि बारी आती है अपनी बात रखने की तो बिल्कुल भी ध्यान नही देना चाहते आप उसको हल्के में लेते हैं।

तो यहां पर win-win situation create ही नही हो सकती जब तक कि दोनों तरफ की बात न सुनी जाए। सामने वाले को भी msg जाना चाहिए कि आप वाक़ये में उसकी क़द्र करते हैं और उसकी बात को तवज्जोह देते तो आप win-win situation को create करके एक दूसरे का फायदा उठा रहे हैं।। 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां