खोज

11 biggest obstacles to success and how to crush them

motivate lines in hindi

दोस्तों हम सभी को कामयाबी पाने के लिए ज़िन्दगी में न जाने कैसी कैसी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। आज के इस Post में आपको ज़िन्दगी के उन पहलुओं का सामना होगा जिनको अगर आपने आज Miss किया तो कल आपको पछताना पड़ सकता है। 

If you want to see "Success Quotes" in English so you can visit These Website 👇

1. दिखावा?


What is Meaning of Show of

कुछ ऐसे तरीक़े हैं जो आपको अपनी Normal life में अपनाने चाहिए,ताकि लोगों में आपकी बात हमेशा बनी रहे। और कोई इंसान जो आपके बारे में कल सोचता था, वो आज आपको पहले से बेहतर जानता हो। मतलब कहने का यह है कि किसी भी इंसान की सोच आपके बारे में  छोटी न बन जाए। ऐसा तभी हो सकता है जब आप दिखावा करते हों मतलब अन्दर से आप कुछ और हो और बाहर से खुद को दिखाते कुछ हो और हो। 

आज के ज़माने में दिखावा जल्दी पकड़ में आ जाता है और पता चल जाता है की कौन आज की इस दुनिया में नकली है और कौन असली! और इस बात के आप खुद ज़िम्मेदार होते हैं। 

तो फैसला अब आपके हाथ में है कि आप खुद को क्या दिखाना चाहते हैं एक ऐसा इंसान! जो हमेशा लोगों की नज़रों में अच्छा बना रहे,या एक ऐसा इंसान जो खुद को अच्छा दिखाने की कोशिश करता है मगर दर अस्ल में वो ऐसा है नहीं। 

तो यकीन मानिये आप अपने आने वाले कल के लिए एक बदनाम वक़्त बना रहे हैं,और उस वक़्त बस आपको लोग एक बेकारा इंसान कहना शुरू कर देंगे और यह रास्ता आपने खुद चुना होगा इसका ज़िम्मा दूसरों को मत दीजिये।


समझने में चूक

कभी-कभी गलत फहमियां हो जाती हैं या कोई आपको बदनाम करने की कोशिश करने लगता है। और यह ऐसा वक़्त है जो सबकी ज़िन्दगी में आता है इससे कोई नही बच सकता है! फ़र्क़ सिर्फ यह है कि इससे किसी को ज़्यादा गुर्जरना पड़ता है और किसी को कम!..

सवाल यह है की जब भी कोई शख्स आपकी बुराई करे या आपको गलत ठहराए एक ऐसी बात में जिसमें आप ज़िम्मेदार न हों,तो आपको यह बात बहुत नागवार गुज़रती है की आपने तो कुछ किया ही नहीं , फिर आपका नाम क्यूँ लिया जा रहा है?


3. आपकी जिंदगी का कोई Boss नहीं


boss baby

यहाँ मैं आपको यह बात साफ़ कर दूं की इसमें आपको सबके सामने सफाई देने की ज़रुरत नहीं,आप अपनी सफाई बेशक दें मगर ऐसे शख्स के सामने जो आपकी बात को समझता हो,या कोई बड़ा जो आपसे अपनी सफाई देने के लिए कहे। 

आप किस-किस को अपनी सफाई देने जाएंगे! बेहतर है की आप चुप रहें, तभी बोलें जब आपसे कहा जाए। होगा यह कि कुछ दिनों में लोग भूल जायेंगे या ज़िक्र बंद कर देंगे। और फिर आप फिर से लोगों में अपनी पहले वाली बात पा सकते हैं। यह तभी हो सकता है जब आप किसी चीज़ में दोषी न हों जैसा की आप पर गलत होने का आरोप लगा था

मैं समझता हूँ की हमें अपने बारे में लोगों को सफाई देने की ज़रुरत नहीं है क्यूंकि कोई भी हमारी ज़िन्दगी का मालिक नहीं कि हम किसी को भी अपने अच्छे होने का सुबूत देने लगें। बस!...आप अपने काम पर ध्यान दीजिये अगर आप अच्छे हैं और अपने काम को लेकर ईमानदार हैं...तो खुद पर भरोसा करना सीखिए।  


4. आपके अच्छे काम से लोग क्यूँ जलते हैं ?


jealous meaning

यह एक सामान्य बात है की जब भी आप तरक्क़ी करने लगते हैं,या कोई अच्छा काम करने लगते हैं और आपकी वाह-वाही के चर्चे चारों और होने लगते हैं। तब कुछ लोग आपके अच्छे काम से अन्दर ही अंदर जलने लगते हैं,और आपको बदनाम करने के मोक़े तलाशने लगते हैं। अगर आपने उन्हें मोक़ा दे दिया तो याद रखिये यही लोग कह देंगे कि देखा हम कहते न थे की यह शख्स ऐसा है वैसा है। तो ऐसे में आप क्या कर सकते हैं? ....

मेरा जवाब है कुछ नहीं,अब आपको यह भुगतना पड़ेगा। क्यूंकि इसके ज़िम्मेदार आप खुद हैं। तो अगर आपसे कोई दुश्मनी रखता है,या जलता है तो उसको छोड़िये अपने काम पर ध्यान दीजिये। 

क्यूंकि लोग नहीं चाहते कि आप तरक्क़ी करें! ऐसे में अगर आप लोगों में उलझ कर रह गए तो आप अपने काम से अपना ध्यान खो देंगे और लोग यह चाहते हैं। तो लोगों की यह चाहत!चाहत बनी रहे कभी भी लोगों की बातें आपके लिए रुकावट न बनें ! 


5. आपकी कामयाबी या नाकामी?

जी हाँ! ऐसा हो सकता है कि अगर आप बोल पड़ते हैं तो लोग आपके अच्छे बुरे होने का जल्दी फैसला कर लेंगे! ज़रा सोचिये ! जब तक आप चुप थे तो कोई आपको बुरा नही कहता था। पर जब आपने बोलना शुरू किया तो कुछ लोगों में आपके ऐब(कमियां) नज़र आने लगीं? और आप एक नाकाम इंसान के रूप में जानें जाने लगे! 

वो एक अलग मुद्दा है कि आप अपनी जगह पर सही थे पर आज के दौर में हर कोई खुदको होशियार समझता है और कोई दूसरा नही चाहता की उसके आगे किसी की बात बेहतर हो जाये।

जब तक आप शांत रहेंगे तब तक लोगों की नज़रों में आप एक अच्छे इंसान रहेंगे। देखो! इसका मतलब यह हरगिज़ नहीं कि आप कभी बोलें ही ना,आप जरूर बोल सकते हैं। मगर जब आप बोलें सच्ची और साफ़ बात बोलें और फिर आपकी ज़बान ही आपको अच्छा कहलवाएगी और यही ज़बान आपको बुरा। अब फैसला आपके हाथ में है कि आप खुद को क्या कहलवाना पसंद करेंगे ! 


6. सच बताने का मौक़ा सबको मिलता है

दर अस्ल मैं यहाँ यह हर्गिज़ कहना नहीं चाहता की आप कभी बोलें ही न और मैं क्यूँ आपको चुप रहने के लिए कह रहा हूँ , मैं सिर्फ आपको यह बताना चाहता हूँ कि आप ज़रूर बोलिए मगर लोगों को आप पर ऊँगली उठाने का मौक़ा मत दीजिये। उन्हें कोई ऐसी बात न बोलिये जिससे उन्हें आपको गलत साबित करने का मौक़ा मिले।

अगर! यहाँ आप कहना चाहते हैं कि उन्हें सच भी न बताया जाए? बेशक आप उन्हें सच बता सकते हैं लेकिन सच सिर्फ आप उस शख्स के सामने रखे जो आपकी बात को समझने की कोशिश करे या आपको लगता है आप अगर किसी को सच बताएँगे तो 90% चांस हैं कि वोह आपकी बात पर ध्यान देगा।

और जब आप किसी ऐसे शख्स के सामने सच बताएँगे जिसे आप सही से नहीं जानते तो हो सकता है कि आपकी सच्ची बात को झुटला दिया जाए..और इसके उलट वोह आपसे उलझ सकता है और वो आपसे बहस शुरू कर सकता इसका नतीजा लड़ाई तक पहुँच सकता है। और लड़ाई किसी के लिए अच्छी चीज़ नहीं। अगर आप सच बताना चाहते हैं तो एक ज़िम्मेदार इंसान को ही सच बताएं


7. बे-मौक़ा बात कहने से यह होता है 

कभी-कभी ऐसा होता है की आप बे-मौक़ा बोल पड़ते हैं जिसका नतीजा यह होता है कि आपकी कितनी ही अच्छी बात ही क्यूँ न हो मगर वोह बे-वक्त कहने की वजह से गलत लगती है। 

इसे ऐसे समझते हैं की कोई आपका जानने वाला या आपका दोस्त खाना खा रहा हो और आप उसको कहने लगें की डॉक्टर सबसे पहले मेंढक और चूूहे वगैरह का Opration की Practice करते हैैं, तब ही जाकर वोह Opration करना सीखते हैं। यहाँ आपने बात तो ठीक कही है मगर यहाँ यह बात बताने का मौक़ा नहीं था और आपने फिर भी बताई। 

उम्मीद है आप इस बात को अच्छी तरह समझ गए होंगे कि सिर्फ तभी बोलें तब ज़रुरत हो बिना ज़रुरत और बे-मौक़ा बात कहना आपके मूर्ख होने का सन्देश लोगों तक जाता है और कोई भी कह देता है कि आपको बात कहने का नहीं पता। आप कहीं भी बोल पड़ते हैं बे ज़रुरत। इसके अलावा अगर आप ऐसा करेंगे तो बे तमीज़ होने का ठप्पा आप पर अलग से लगा दिया जाएगा। 


8. अपने काम पर Focus कैसे रखें?

कम बोलिए और अपने काम पर! और अपने Carrier पर ज़्यादा ध्यान दीजिये। लोगों को यह कहने का मौक़ा बिलकुल न दें कि आपके पास कोई काम नहीं और आप इधर-उधर घूमते रहते हैं,कुछ नहीं करते? 

अगर आप अपने काम की कामयाबी पर यकीन रखते हैं तो लोगों पर ध्यान मत दीजिये कि लोग आपको अगर कुछ और करने की सलाह देते हैं। तो आप वही काम कीजियेगा जो आपको पसंद हो और जिसका आपको शौक़ भी हो या कोई ऐसा काम जो आपने सीख लिया हो और उसे करने में आप माहिर हों। 


9. क्या अपना नाम भी बदल लेंगे? 

अगर आप ज़माने की बातों में आयेंगे तो आप कितने काम बदलोगे? फिर एक दिन कोई भी आपसे कह देगा की आपका नाम भी अच्छा नहीं है उसे बदल डालिए और मुझे पता है आप ऐसा नहीं करने वाले। 

तो वही बात मानिये जिसे लेकर आप यक़ीन में हों। और उस काम में आपको कामयाबी के आसार ज़्यादा नज़र आ रहे हों। कोई आपके काम पर कितना भी ऊँगली उठाये बस आप अपने काम पर फ़ोकस रखिये फिर एक दिन यही लोग आपके काम को अच्छा कहने लगेंगे! मग़र हाँ तजुर्बेकार आदमी की सलाह भी ज़रूरी होती है।


10. खोयी हुई इज़्ज़त कैसे वापस पाएँ?

यहाँ उन लोगों की भी बात करने वाला हूँ जो अपनी ज़िन्दगी को लेकर निराश हैं और खुद में घुट-घुट कर जी रहे हैं। यकीन मानो मेरे लिए आप भी दोस्त की तरह हैं और मैं यहाँ आपके लिए भी कुछ लेकर आया हूँ सच कहता हूँ आप कुछ तरीकों को अगर अपनाएंगे तो आप अपना खोया हुआ वक़ार(इज्ज़त)वापस पा सकते हैं।


मैं यहाँ यह बात कह रहा हूँ की अगर लोगों में आप अच्छे नहीं कहलवाते तो निराश होने की ज़रुरत नहीं। आप अपने काम से सब ठीक कर सकते हैं। आप कोई अच्छा काम करके लोगों में अपनी खोई हुयी बात वापस पा सकते हैं। इसके लिए लोगों में अपनी सफाई देने की ज़रुरत नहीं है बल्कि अपने काम से आप अच्छा कहलवा सकते हैं। 


11. क्या फर्क पड़ता है?

जानते सब हैं मगर यह बात कम ही लोग समझते हैं की इंसान गलती कर बेठता है तो क्या वोह अपनी गलती नहीं सुधार सकता ?? 

मुझे बड़े अफ़सोस के साथ कहना पड़ता है की लोग एक-दुसरे में ऐब निकालने में ज़्याद ध्यान देते हैं जबकि उनमें खुद! न जाने कितनी गलतियाँ होती हैं और कितने ऐब उनमें भरे होते हैं।  जिनपर अगर वोह ध्यान देते तो कभी किसी पर कीचड़े न उछालते !

तो दोस्तों ! मेरा आपको यहाँ Judge करने का कोई मन नहीं था बस आपको सच्चाई से रूबरू(सामन लाना) कराना था जो आप! हो सकता है पहले से जानते हों? मगर यहाँ बताने से ज़्यादा से ज़्यादा लोगों तक बात पहुंचे और हम एक अच्छा ज़िम्मेदार इंसान बनने की कोशिश करें !!

आज के लिए इतना ही ! यह बातें आपको किसी लगी Comment में बताईयेगा ज़रूर! उम्मीद करता हूँ यह बातें आपको पसंद आयी होंगी  ! 

तो मिलता हूँ दोबारा और लेकर आता हूँ आपके लिए ऐसा ही कोई खास टॉपिक ! जुड़े रहियेगा!


Thanks!



टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां